mahAgaNapati AvaraNa pujA vidhAnam

mahAgaNapati AvaraNa pujA vidhAnam

श्री महागणपति आवरण पूजा विधानम्

पीठ पूजा

नवगणेशपीठ पुजा - पुष्पार्चनं

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं तीव्रायै नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ज्वालिन्यै नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं नन्दायै नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं भोगदायै नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं कामरूपिण्यै नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं उग्रायै नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं तेजोवत्यै नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं सत्यायै नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं विघ्न नाशिन्यै नमः।

धर्माष्टक पूजा

आग्नेयादि दिक्षु क्रमेण पुष्पार्चनं

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऋं धर्माय नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ॠं ज्ञानाय नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऌं वैराग्याय नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ॡं ऐश्वर्याय नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऋं अधर्माय नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ॠं अज्ञानाय नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऌं अवैराग्याय नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ॡं अनैश्वर्याय नमः।

श्री महागणपति ध्यानम्

बीजापूरगदेक्षुकार्मुकरुजा चक्राब्जपाशोत्पला
व्रीह्यग्रस्वविषाण रत्नकलश प्रोद्यत्कराम्भोरुहः।
ध्येयोवल्लभयासपद्मकरया श्लिष्टोज्वलद्भूषया
विश्वोत्पत्ति विपत्ति संस्थितिकरो विघ्नेश इष्टार्थदः॥

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतिं ध्यायामि आवाहयामि नमः॥आवाहन मुद्रां प्रदर्श्य।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। स्थापिता भव। स्थापण मुद्रां प्रदर्श्य।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। संस्थिता भव। संस्थित मुद्रां प्रदर्श्य।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। सन्निरुद्धा भव। सन्निरुद्ध मुद्रां प्रदर्श्य।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। सम्मुखी भव। सम्मुखी मुद्रां प्रदर्श्य।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। अवकुण्ठितो भव। अवकुण्ठन मुद्रां प्रदर्श्य।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतिं श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥ वन्दन धेनु योनि मुद्राञ्श्च प्रदर्श्य।

स्वामिन् सर्वजगन्नाथ यावत्पूजावसानकं।
तावत्त्वं प्रीतिभावेन यन्त्रेऽस्मिन् सन्निधिं कुरु॥

महागणपति षोडश उपचार पूजा

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। आसनं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। पादयोः पाद्यं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। हस्तयोः अर्घ्यं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। मुखे आचमनीयं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। मघुपर्कं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। शुद्धोदक स्नानं कल्पयामि नमः। स्नानानन्तरं आचमनीयं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। वस्त्रोपवीतानि कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। भूषणं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। दिव्यपरिमल गन्धं कल्पयामि नमः। हरिद्रा कुङ्कुमं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। पुष्पाक्षतान् कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। धूपं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। दीपं कल्पयामि नमः। धूपदीपानन्तरं आचमनीयं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। ताम्बूलं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। कर्पूर नीराञ्जनं कल्पयामि नमः।
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा॥ श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपतये नमः। प्रदक्षिण नमस्कारान् कल्पयामि नमः।

संविन्मये परे देवा परामृत रुचिप्रिय।
अनुज्ञां गणेश देहि परिवारार्चनाय मे॥

षडङ्ग तर्पणम्

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ॐ ग्लां हृदयाय नमः। हृदय शक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीं ग्लीं शिरसे स्वाहा। शिरो शक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ह्रीं ग्लूं शिखायै वषट्। शिखा शक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं क्लीं ग्लैं कवचाय हूं। कवच शक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं ग्लौं नेत्रत्रयाय वौषट्। नेत्र शक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं गं ग्लः अस्त्राय फट्। अस्त्र शक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥

लयाङ्ग तर्पणम्

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा। श्री सिद्धलक्ष्म्यम्बा समेत श्री महागणपति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥ १० वारम्

गुरुमण्डल पूजा

दिव्यौघः

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं विनायक सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं कवीश्वर सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं विरूपाक्ष सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं विश्व सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ब्रह्मण्य सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं निधीश सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥

सिद्धौघः

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं गजाधि सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं वरप्रद सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥

मानवौघः

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं विजय सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं दुर्जय सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं जय सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं दुःखारि सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं सुखावह सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं परमात्म सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं सर्वभूतात्म सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं महानन्द सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं फालचन्द्र सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं सद्योजात सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं बुद्ध सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं शूर सिद्धाचार्य श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं क्लीं सौः ऐं ग्लौं हंसः शिवः सोऽहं हंसः स्वात्माराम पञ्जर विलीन तेजसे श्री परमेष्ठि गुरवे नमः। श्री अमुकम्बा समेत श्री अमुकानन्दनाथ श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं क्लीं सौः ऐं ग्लौं सोऽहं हंसः शिवः स्वच्छ प्रकाशविमर्श हेतवे श्री परम गुरवे नमः। श्री अमुकम्बा समेत श्री अमुकानन्दनाथ श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं क्लीं सौः ऐं ग्लौं हंसः शिवः सोऽहं स्वरूप निरूपण हेतवे श्री गुरवे नमः। श्री अमुकम्बा समेत श्री अमुकानन्दनाथ श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥

प्रथमावरणम् - त्रयस्त्रषडस्त्रयोरन्तराले प्रागदिदिक्षु क्रमेण

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्री श्रीपति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं गिरिजा गिरिजापति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं रति रतिपति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं मही महीपति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥

एताः प्रथमावरणदेवताः साङ्गाः सायुधाः सशक्तिकाः सपरिवाराः सर्वोपचारैः सम्पूजिताः सन्तर्पिताः सन्तुष्टाः सन्तु नमः। पुष्पाञ्जलिः।

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा सिद्धलक्ष्मि समेत श्री महागणपति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥ त्रिवारं

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं अभीष्टसिद्धिं मे देहि शरणागतवत्सल।
भक्त्या समर्पये तुभ्यं प्रथमावरणार्चनं॥

अनेन प्रथमावरणार्चनेन सिद्धलक्ष्मि समेत श्री महागणपति प्रीयथां॥

द्वितीयावरणम् - षडस्त्रे देवाग्रकोणमारभ्य प्रादक्षिण्येन तद्दक्षवामपार्श्वयोश्चक्रमेण यजेत्

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऋद्ध्यामोद श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं समृद्धि प्रमोद श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं कान्तिसुमुख श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं मदनवती दुर्मुख श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं मदद्रवामविघ्न श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं द्राविणीविघ्नकतृ श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं वसुधाराशङ्खनिधि श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं वसुमतिपद्मनिधि श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥

एताः द्वितीयावरणदेवताः साङ्गाः सायुधाः सशक्तिकाः सपरिवाराः सर्वोपचारैः सम्पूजिताः सन्तर्पिताः सन्तुष्टाः सन्तु नमः। पुष्पाञ्जलिः।

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा सिद्धलक्ष्मि समेत श्री महागणपति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥ त्रिवारं

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं अभीष्टसिद्धिं मे देहि शरणागतवत्सल।
भक्त्या समर्पये तुभ्यं द्वितीयावरणार्चनं॥

अनेन द्वितीयावरणार्चनेन सिद्धलक्ष्मि समेत श्री महागणपति प्रीयथां॥

तृतीयावरणम् - षडस्रसन्धिष्ट्के प्राग्वत् षडङ्गदेवतायजेत्

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ॐ ग्लां हृदयशक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीं ग्लीं शिरशक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ह्रीं ग्लूं शिखाशक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं क्लीं ग्लैं कवचशक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं ग्लौं नेत्रशक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं गं ग्लः अस्त्रशक्ति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥

एताः तृतीयावरणदेवताः साङ्गाः सायुधाः सशक्तिकाः सपरिवाराः सर्वोपचारैः सम्पूजिताः सन्तर्पिताः सन्तुष्टाः सन्तु नमः। पुष्पाञ्जलिः।

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा सिद्धलक्ष्मि समेत श्री महागणपति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥ त्रिवारं

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं अभीष्टसिद्धिं मे देहि शरणागतवत्सल।
भक्त्या समर्पये तुभ्यं तृतीयावरणार्चनं॥

अनेन तृतीयावरणार्चनेन सिद्धलक्ष्मि समेत श्री महागणपति प्रीयथां॥

तुरियावरणम् - अष्टदले पश्चिमादि दिक्षु प्रादक्षिण्यक्रमेणयजेत्

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ब्राह्मी श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं माहेश्वरी श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं कौमारी श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं वैष्णवी श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं वाराही श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं माहेन्द्री श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं चामुण्डा श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं महालक्ष्मी श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥

एताः तुरियावरणदेवताः साङ्गाः सायुधाः सशक्तिकाः सपरिवाराः सर्वोपचारैः सम्पूजिताः सन्तर्पिताः सन्तुष्टाः सन्तु नमः। पुष्पाञ्जलिः।

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा सिद्धलक्ष्मि समेत श्री महागणपति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥ त्रिवारं

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं अभीष्टसिद्धिं मे देहि शरणागतवत्सल।
भक्त्या समर्पये तुभ्यं तुरियावरणार्चनं॥

अनेन तुरियावरणार्चनेन सिद्धलक्ष्मि समेत श्री महागणपति प्रीयथां॥

पञ्चमावरणम् - चतुरस्रस्य रेखया प्रागाध्यादिदिक्षु क्रमेणयजेत्

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं लां इन्द्राय वज्रहस्ताय सुराधिपतये ऐरावतवाहनाय सपरिवाराय नमः॥ इन्द्र श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं रां अग्नये शक्तिहस्ताय तेजोधिपतये अजवाहनाय सपरिवाराय नमः॥ अग्नि श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं टां यमाय दन्डहस्ताय प्रेताधिपतये महिषवाहनाय सपरिवाराय नमः॥ यम श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं क्षां निरुऋतये खङ्गहस्ताय रक्षोधिपतये नरवाहनाय सपरिवाराय नमः॥ निरुऋति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं वां वरुणाय पाशहस्ताय जलाधिपतये मकरवाहनाय सपरिवाराय नमः॥ वरुण श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं यां वायवे ध्वजहस्ताय प्राणाधिपतये रुरुवाहनाय सपरिवाराय नमः॥ वायु श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं सां सोमाय शङ्खहस्ताय नक्षत्रधिपतये अस्ववाहनाय सपरिवाराय नमः॥ सोम श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं हां ईशानाय त्रिशूलहस्ताय विध्याधिपतये वृषभवाहनाय सपरिवाराय नमः॥ ईशान श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥

एताः पञ्चमावरणदेवताः साङ्गाः सायुधाः सशक्तिकाः सपरिवाराः सर्वोपचारैः सम्पूजिताः सन्तर्पिताः सन्तुष्टाः सन्तु नमः। पुष्पाञ्जलिः।

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा सिद्धलक्ष्मि समेत श्री महागणपति श्री पादुकां पूजयामि तर्पयामि नमः॥ त्रिवारं

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं अभीष्टसिद्धिं मे देहि शरणागतवत्सल।
भक्त्या समर्पये तुभ्यं पञ्चमावरणार्चनं॥

अनेन पञ्चमावरणार्चनेन सिद्धलक्ष्मि समेत श्री महागणपति प्रीयथां॥

śrī mahāgaṇapati āvaraṇa pūjā vidhānam

pīṭha pūjā

navagaṇeśapīṭha pujā - puṣpārcanaṁ

om śrīṁ hrīṁ klīṁ tīvrāyai namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ jvālinyai namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ nandāyai namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ bhogadāyai namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ kāmarūpiṇyai namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ ugrāyai namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ tejovatyai namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ satyāyai namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ vighna nāśinyai namaḥ |

dharmāṣṭaka pūjā

āgneyādi dikṣu krameṇa puṣpārcanaṁ

om śrīṁ hrīṁ klīṁ ṛṁ dharmāya namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ ṝṁ jñānāya namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ ḷṁ vairāgyāya namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ ḹṁ aiśvaryāya namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ ṛṁ adharmāya namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ ṝṁ ajñānāya namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ ḷṁ avairāgyāya namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ ḹṁ anaiśvaryāya namaḥ |

śrī mahāgaṇapati dhyānam

bījāpūragadekṣukārmukarujā cakrābjapāśootpalā
vrīhyagrasvaviṣāṇa ratnakalaśa prodyatkarāmbhoruhaḥ |
dhyeyovallabhayāsapadmakarayā śliṣṭojvaladbhūṣayā
viśvotpatti vipatti saṁsthitikaro vighneśa iṣṭārthadaḥ ||

om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatiṁ dhyāyāmi āvāhayāmi namaḥ |'avāhana mudrāṁ pradarśya |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | sthāpitā bhava | sthāpaṇa mudrāṁ pradarśya |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | saṁsthitā bhava | saṁsthita mudrāṁ pradarśya |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | sanniruddhā bhava | sanniruddha mudrāṁ pradarśya |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | sammukhī bhava | sammukhī mudrāṁ pradarśya |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | avakuṇṭhitoo bhava | avakuṇṭhana mudrāṁ pradarśya |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatiṁ śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ || vandana dheenu yoni mudrāñśca pradarśya |

svāmin sarvajagannātha yāvatpūjāvasānakaṁ |
tāvattvaṁ prītibhāveena yantre'smin sannidhiṁ kuru ||

mahāgaṇapati ṣooḍaśa upacāra pūjā

om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | āsanaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | pādayooḥ pādyaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | hastayooḥ arghyaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | mukhee ācamanīyaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | maghuparkaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | śuddhoodaka snānaṁ kalpayāmi namaḥ | snānānantaraṁ ācamanīyaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | vastroopavītāni kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | bhūṣaṇaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | divyaparimala gandhaṁ kalpayāmi namaḥ | haridrā kuṅkumaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | puṣpākṣatān kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | dhūpaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | dīpaṁ kalpayāmi namaḥ | dhūpadīpānantaraṁ ācamanīyaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | tāmbūlaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | karpūra nīrāñjanaṁ kalpayāmi namaḥ |
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā || śrī siddhalakṣmyambā sameeta śrī mahāgaṇapatayee namaḥ | pradakṣiṇa namaskārān kalpayāmi namaḥ |

saṁvinmayee paree deevā parāmṛta rucipriya |
anujñāṁ gaṇeeśa deehi parivārārcanāya mee ||

ṣaḍaṅga tarpaṇam

om śrīṁ hrīṁ klīṁ om glāṁ hṛdayāya namaḥ | hṛdaya śakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ śrīṁ glīṁ śirase svāhā | śiroo śakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ hrīṁ glūṁ śikhāyai vaṣaṭ | śikhā śakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ klīṁ glaiṁ kavacāya hūṁ | kavaca śakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ glauṁ netratrayāya vauṣaṭ | neetra śakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ gaṁ glaḥ astrāya phaṭ | astra śakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||

layāṅga tarpaṇam

om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā | śrī siddhalakṣmyambā sameta śrī mahāgaṇapati śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ || 10 vāram

gurumaṇḍala pūjā

divyaughaḥ

om śrīṁ hrīṁ klīṁ vināyaka siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ kavīśvara siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ virūpākṣa siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ viśva siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ brahmaṇya siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ nidhīśa siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||

siddhaughaḥ

om śrīṁ hrīṁ klīṁ gajādhi siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ varaprada siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||

mānavaughaḥ

om śrīṁ hrīṁ klīṁ vijaya siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ durjaya siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ jaya siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ duḥkhāri siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ sukhāvaha siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ paramātma siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ sarvabhūtātma siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ mahānanda siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ phālacandra siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ sadyoojāta siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ buddha siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ śūra siddhācārya śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||

om śrīṁ hrīṁ klīṁ aiṁ klīṁ sauḥ aiṁ glauṁ haṁsaḥ śivaḥ so'haṁ haṁsaḥ svātmārāma pañjara vilīna tejase śrī parameṣṭhi gurave namaḥ | śrī amukambā sameta śrī amukānandanātha śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ aiṁ klīṁ sauḥ aiṁ glauṁ so'haṁ haṁsaḥ śivaḥ svaccha prakāśavimarśa hetave śrī parama gurave namaḥ | śrī amukambā sameta śrī amukānandanātha śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ aiṁ klīṁ sauḥ aiṁ glauṁ haṁsaḥ śivaḥ so'haṁ svarūpa nirūpaṇa hetave śrī gurave namaḥ | śrī amukambā sameta śrī amukānandanātha śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||

prathamāvaraṇam - trayastraṣaḍastrayorantarāle prāgadidikṣu krameṇa

om śrīṁ hrīṁ klīṁ śrī śrīpati śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ girijā girijāpati śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ rati ratipati śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ mahī mahīpati śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||

etāḥ prathamāvaraṇadevatāḥ sāṅgāḥ sāyudhāḥ saśaktikāḥ saparivārāḥ sarvopacāraiḥ sampūjitāḥ santarpitāḥ santuṣṭāḥ santu namaḥ | puṣpāñjaliḥ |

om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā siddhalakṣmi sameta śrī mahāgaṇapati śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ || trivāraṁ

om śrīṁ hrīṁ klīṁ abhīṣṭasiddhiṁ me dehi śaraṇāgatavatsala |
bhaktyā samarpaye tubhyaṁ prathamāvaraṇārcanaṁ ||

anena prathamāvaraṇārcanena siddhalakṣmi sameeta śrī mahāgaṇapati prīyathāṁ ||

dvitīyāvaraṇam - ṣaḍastre devāgrakoṇamārabhya prādakṣiṇyena taddakṣavāmapārśvayoścakrameṇa yajet

om śrīṁ hrīṁ klīṁ ṛddhyāmoda śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ samṛddhi pramoda śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ kāntisumukha śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ madanavatī durmukha śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ madadravāmavighna śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ drāviṇīvighnakatṛ śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ vasudhārāśaṅkhanidhi śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ vasumatipadmanidhi śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||

etāḥ dvitīyāvaraṇadevatāḥ sāṅgāḥ sāyudhāḥ saśaktikāḥ saparivārāḥ sarvopacāraiḥ sampūjitāḥ santarpitāḥ santuṣṭāḥ santu namaḥ | puṣpāñjaliḥ |

om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā siddhalakṣmi sameta śrī mahāgaṇapati śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ || trivāraṁ

om śrīṁ hrīṁ klīṁ abhīṣṭasiddhiṁ me dehi śaraṇāgatavatsala |
bhaktyā samarpaye tubhyaṁ dvitīyāvaraṇārcanaṁ ||

anena dvitīyāvaraṇārcanena siddhalakṣmi sameeta śrī mahāgaṇapati prīyathāṁ ||

tṛtīyāvaraṇam - ṣaḍasrasandhiṣṭke prāgvat ṣaḍaṅgadevatāyajet

om śrīṁ hrīṁ klīṁ om glāṁ hṛdayaśakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ śrīṁ glīṁ śiraśakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ hrīṁ glūṁ śikhāśakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ klīṁ glaiṁ kavacaśakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ glauṁ netraśakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ gaṁ glaḥ astraśakti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||

etāḥ tṛtīyāvaraṇadevatāḥ sāṅgāḥ sāyudhāḥ saśaktikāḥ saparivārāḥ sarvopacāraiḥ sampūjitāḥ santarpitāḥ santuṣṭāḥ santu namaḥ | puṣpāñjaliḥ |

om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā siddhalakṣmi sameta śrī mahāgaṇapati śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ || trivāraṁ

om śrīṁ hrīṁ klīṁ abhīṣṭasiddhiṁ me dehi śaraṇāgatavatsala |
bhaktyā samarpaye tubhyaṁ tṛtīyāvaraṇārcanaṁ ||

anena tṛtīyāvaraṇārcanena siddhalakṣmi sameeta śrī mahāgaṇapati prīyathāṁ ||

turiyāvaraṇam - aṣṭadale paścimādi dikṣu prādakṣiṇyakrameṇayajet

om śrīṁ hrīṁ klīṁ brāhmī śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ māheśvarī śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ kaumārī śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ vaiṣṇavī śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ vārāhī śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ māhendrī śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ cāmuṇḍā śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ mahālakṣmī śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||

etāḥ turiyāvaraṇadevatāḥ sāṅgāḥ sāyudhāḥ saśaktikāḥ saparivārāḥ sarvopacāraiḥ sampūjitāḥ santarpitāḥ santuṣṭāḥ santu namaḥ | puṣpāñjaliḥ |

om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā siddhalakṣmi sameta śrī mahāgaṇapati śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ || trivāraṁ

om śrīṁ hrīṁ klīṁ abhīṣṭasiddhiṁ me dehi śaraṇāgatavatsala |
bhaktyā samarpaye tubhyaṁ turiyāavaraṇārcanaṁ ||

anena turiyāvaraṇārcanena siddhalakṣmi sameeta śrī mahāgaṇapati prīyathāṁ ||

pañcamāvaraṇam - caturasrasya rekhayā prāgādhyādidikṣu krameṇayajet

om śrīṁ hrīṁ klīṁ lāṁ indrāya vajrahastāya surādhipataye airāvatavāhanāya saparivārāya namaḥ || indra śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ rāṁ agnaye śaktihastāya tejodhipataye ajavāhanāya saparivārāya namaḥ || agni śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ ṭāṁ yamāya danḍahastāya pretādhipataye mahiṣavāhanāya saparivārāya namaḥ || yama śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ kṣāṁ niruṛtaye khaṅgahastāya rakṣoodhipataye naravāhanāya saparivārāya namaḥ || niruṛti śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ vāṁ varuṇāya pāśahastāya jalādhipataye makaravāhanāya saparivārāya namaḥ || varuṇa śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ yāṁ vāyave dhvajahastāya prāṇādhipataye ruruvāhanāya saparivārāya namaḥ || vāyu śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ sāṁ somāya śaṅkhahastāya nakṣatradhipataye asvavāhanāya saparivārāya namaḥ || soma śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||
om śrīṁ hrīṁ klīṁ hāṁ īśānāya triśūlahastāya vidhyādhipataye vṛṣabhavāhanāya saparivārāya namaḥ || īśāna śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ ||

etāḥ pañcamāvaraṇadevatāḥ sāṅgāḥ sāyudhāḥ saśaktikāḥ saparivārāḥ sarvopacāraiḥ sampūjitāḥ santarpitāḥ santuṣṭāḥ santu namaḥ | puṣpāñjaliḥ |

om śrīṁ hrīṁ klīṁ glauṁ gaṁ gaṇapataye vara varada sarvajanaṁ me vaśamānaya svāhā siddhalakṣmi sameta śrī mahāgaṇapati śrī pādukāṁ pūjayāmi tarpayāmi namaḥ || trivāraṁ

om śrīṁ hrīṁ klīṁ abhīṣṭasiddhiṁ me dehi śaraṇāgatavatsala |
bhaktyā samarpaye tubhyaṁ pañcamāvaraṇārcanaṁ ||

anena pañcamāvaraṇārcanena siddhalakṣmi sameeta śrī mahāgaṇapati prīyathāṁ ||

ஶ்ரீ மஹாகணபதி ஆவரண பூஜா விதாநம்‌

பீட பூஜா

நவகணேஶபீட புஜா - புஷ்பார்சநம்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ தீவ்ராயை நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஜ்வாலிந்யை நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ நந்தாயை நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ போகதாயை நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ காமரூபிண்யை நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ உக்ராயை நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ தேஜோவத்யை நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஸத்யாயை நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ விக்ந நாஶிந்யை நம:

தர்மாஷ்டக பூஜா

ஆக்நேயாதி திக்ஷு க்ரமேண புஷ்பார்சநம்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ரும்‌ தர்மாய நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ரூம்‌ ஜ்ஞாநாய நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ல்ரும்‌ வைராக்யாய நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ல்ரூம்‌ ஐஶ்வர்யாய நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ரும்‌ அதர்மாய நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ரூம்‌ அஜ்ஞாநாய நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ல்ரும்‌ அவைராக்யாய நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ல்ரூம்‌ அநைஶ்வர்யாய நம:

ஶ்ரீ மஹாகணபதி த்யாநம்‌

பீஜாபூரகதேக்ஷுகார்முகருஜா சக்ராப்ஜபாஶோத்பலா
வ்ரீஹ்யக்ரஸ்வவிஷாண ரத்நகலஶ ப்ரோத்யத்கராம்போருஹ:
த்யேயோவல்லபயாஸபத்மகரயா ஶ்லிஷ்டோஜ்வலத்பூஷயா
விஶ்வோத்பத்தி விபத்தி ஸம்ஸ்திதிகரோ விக்நேஶ இஷ்டார்தத:

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதிம்‌ த்யாயாமி ஆவாஹயாமி நம: ஆவாஹந முத்ராம்‌ ப்ரதர்ஶ்ய ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । ஸ்தாபிதா பவ । ஸ்தாபண முத்ராம்‌ ப்ரதர்ஶ்ய ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । ஸம்ஸ்திதா பவ । ஸம்ஸ்தித முத்ராம்‌ ப்ரதர்ஶ்ய ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । ஸந்நிருத்தா பவ । ஸந்நிருத்த முத்ராம்‌ ப்ரதர்ஶ்ய ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । ஸம்முகீ பவ । ஸம்முகீ முத்ராம்‌ ப்ரதர்ஶ்ய ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । அவகுண்டிதோ பவ । அவகுண்டந முத்ராம்‌ ப்ரதர்ஶ்ய ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதிம்‌ ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம: வந்தந தேநு யோநி முத்ராஞ்ஶ்ச ப்ரதர்ஶ்ய ।

ஸ்வாமிந்‌ ஸர்வஜகந்நாத யாவத்பூஜாவஸாநகம்‌ ।
தாவத்த்வம்‌ ப்ரீதிபாவேந யந்த்ரேஅஸ்மிந்‌ ஸந்நிதிம்‌ குரு

மஹாகணபதி ஷோடஶ உபசார பூஜா

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । ஆஸநம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । பாதயோ: பாத்யம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । ஹஸ்தயோ: அர்க்யம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । முகே ஆசமநீயம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । மகுபர்கம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । ஶுத்தோதக ஸ்நாநம்‌ கல்பயாமி நம: । ஸ்நாநாநந்தரம்‌ ஆசமநீயம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । வஸ்த்ரோபவீதாநி கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । பூஷணம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । திவ்யபரிமல கந்தம்‌ கல்பயாமி நம: । ஹரித்ரா குங்குமம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । புஷ்பாக்ஷதாந்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । தூபம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । தீபம்‌ கல்பயாமி நம: । தூபதீபாநந்தரம்‌ ஆசமநீயம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । தாம்பூலம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । கர்பூர நீராஞ்ஜநம்‌ கல்பயாமி நம: ।
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதயே நம: । ப்ரதக்ஷிண நமஸ்காராந்‌ கல்பயாமி நம: ।

ஸம்விந்மயே பரே தேவா பராம்ருத ருசிப்ரிய ।
அநுஜ்ஞாம்‌ கணேஶ தேஹி பரிவாரார்சநாய மே ॥

ஷடங்க தர்பணம்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஓம்‌ க்லாம்‌ ஹ்ருதயாய நம: ஹ்ருதய ஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஶ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஶிரஸே ஸ்வாஹா ஶிரோ ஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லூம்‌ ஶிகாயை வஷட்‌ ஶிகா ஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லீம்‌ க்லைம்‌ கவசாய ஹூம்‌ கவச ஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ க்லௌம்‌ நேத்ரத்ரயாய வௌஷட்‌ நேத்ர ஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ கம்‌ க்ல: அஸ்த்ராய பட்‌ அஸ்த்ர ஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:

லயாங்க தர்பணம்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஶ்ரீ ஸித்தலக்ஷ்ம்யம்பா ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம: ௧௦ வாரம்‌

குருமண்டல பூஜா

திவ்யௌக:

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ விநாயக ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ கவீஶ்வர ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ விரூபாக்ஷ ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ விஶ்வ ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ப்ரஹ்மண்ய ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ நிதீஶ ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:

ஸித்தௌக:

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ கஜாதி ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ வரப்ரத ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:

மாநவௌக:

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ விஜய ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ துர்ஜய ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஜய ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ து:காரி ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஸுகாவஹ ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ பரமாத்ம ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஸர்வபூதாத்ம ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ மஹாநந்த ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ பாலசந்த்ர ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஸத்யோஜாத ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ புத்த ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஶூர ஸித்தாசார்ய ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஐம்‌ க்லீம்‌ ஸௌ: ஐம்‌ க்லௌம்‌ ஹம்ஸ: ஶிவ: ஸோஅஹம்‌ ஹம்ஸ: ஸ்ாத்மாராம பஞ்ஜர விலீந தேஜஸே ஶ்ரீ பரமேஷ்டி குரவே நம: । ஶ்ரீ அமுகம்பா ஸமேத ஶ்ரீ அமுகாநந்தநாத ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஐம்‌ க்லீம்‌ ஸௌ: ஐம்‌ க்லௌம்‌ ஸோஅஹம்‌ ஹம்ஸ: ஶிவ: ஸ்ச்ச ப்ரகாஶவிமர்ஶ ஹேதவே ஶ்ரீ பரம குரவே நம: । ஶ்ரீ அமுகம்பா ஸமேத ஶ்ரீ அமுகாநந்தநாத ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஐம்‌ க்லீம்‌ ஸௌ: ஐம்‌ க்லௌம்‌ ஹம்ஸ: ஶிவ: ஸோஅஹம்‌ ஸ்ரூப நிரூபண ஹேதவே ஶ்ரீ குரவே நம: । ஶ்ரீ அமுகம்பா ஸமேத ஶ்ரீ அமுகாநந்தநாத ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:

ப்ரதமாவரணம்‌ - த்ரயஸ்த்ரஷடஸ்த்ரயோரந்தராலே ப்ராகதிதிக்ஷு க்ரமேண

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஶ்ரீ ஶ்ரீபதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ கிரிஜா கிரிஜாபதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ரதி ரதிபதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ மஹீ மஹீபதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:

ஏதா: ப்ரதமாவரணதேவதா: ஸாங்கா: ஸாயுதா: ஸஶக்திகா: ஸபரிவாரா: ஸர்வோபசாரை: ஸம்பூஜிதா: ஸந்தர்பிதா: ஸந்துஷ்டா: ஸந்து நம: புஷ்பாஞ்ஜலி: ।

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஸித்தலக்ஷ்மி ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம: த்ரிவாரம்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ அபீஷ்டஸித்திம்‌ மே தேஹி ஶரணாகதவத்ஸல
பக்த்யா ஸமர்பயே துப்யம்‌ ப்ரதமாவரணார்சநம்‌

அநேந ப்ரதமாவரணார்சநேந ஸித்தலக்ஷ்மி ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதி ப்ரீயதாம்‌

த்விதீயாவரணம்‌ - ஷடஸ்த்ரே தேவாக்ரகோணமாரப்ய ப்ராதக்ஷிண்யேந தத்தக்ஷவாமபார்ஶ்வயோஶ்சக்ரமேண யஜேத்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ருத்த்யாமோத ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஸம்ருத்தி ப்ரமோத ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ காந்திஸுமுக ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ மதநவதீ துர்முக ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ மதத்ரவாமவிக்ந ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ த்ராவிணீவிக்நகத்ரு ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ வஸுதாராஶங்கநிதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ வஸுமதிபத்மநிதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:

ஏதா: த்விதீயாவரணதேவதா: ஸாங்கா: ஸாயுதா: ஸஶக்திகா: ஸபரிவாரா: ஸர்வோபசாரை: ஸம்பூஜிதா: ஸந்தர்பிதா: ஸந்துஷ்டா: ஸந்து நம: புஷ்பாஞ்ஜலி: ।

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஸித்தலக்ஷ்மி ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம: த்ரிவாரம்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ அபீஷ்டஸித்திம்‌ மே தேஹி ஶரணாகதவத்ஸல
பக்த்யா ஸமர்பயே துப்யம்‌ த்விதீயாவரணார்சநம்‌

அநேந த்விதீயாவரணார்சநேந ஸித்தலக்ஷ்மி ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதி ப்ரீயதாம்‌

த்ருதீயாவரணம்‌ - ஷடஸ்ரஸந்திஷ்ட்கே ப்ராக்வத்‌ ஷடங்கதேவதாயஜேத்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஓம்‌ க்லாம்‌ ஹ்ருஇதயஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஶ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஶிரஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லூம்‌ ஶிகாஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லீம்‌ க்லைம்‌ கவசஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ க்லௌம்‌ நேத்ரஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ கம்‌ க்ல: அஸ்த்ரஶக்தி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:

ஏதா: த்ருதீயாவரணதேவதா: ஸாங்கா: ஸாயுதா: ஸஶக்திகா: ஸபரிவாரா: ஸர்வோபசாரை: ஸம்பூஜிதா: ஸந்தர்பிதா: ஸந்துஷ்டா: ஸந்து நம: புஷ்பாஞ்ஜலி: ।

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஸித்தலக்ஷ்மி ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம: த்ரிவாரம்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ அபீஷ்டஸித்திம்‌ மே தேஹி ஶரணாகதவத்ஸல
பக்த்யா ஸமர்பயே துப்யம்‌ த்ருதீயாவரணார்சநம்‌

அநேந த்ருதீயாவரணார்சநேந ஸித்தலக்ஷ்மி ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதி ப்ரீயதாம்‌

துரியாவரணம்‌ - அஷ்டதலே பஶ்சிமாதி திக்ஷு ப்ராதக்ஷிண்யக்ரமேணயஜேத்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ப்ராஹ்மீ ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ மாஹேஶ்வரீ ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ கௌமாரீ ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ வைஷ்ணவீ ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ வாராஹீ ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ மாஹேந்த்ரீ ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ சாமுண்டா ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ மஹாலக்ஷ்மீ ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:

ஏதா: துரியாவரணதேவதா: ஸாங்கா: ஸாயுதா: ஸஶக்திகா: ஸபரிவாரா: ஸர்வோபசாரை: ஸம்பூஜிதா: ஸந்தர்பிதா: ஸந்துஷ்டா: ஸந்து நம: புஷ்பாஞ்ஜலி: ।

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஸித்தலக்ஷ்மி ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம: த்ரிவாரம்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ அபீஷ்டஸித்திம்‌ மே தேஹி ஶரணாகதவத்ஸல
பக்த்யா ஸமர்பயே துப்யம்‌ துரியாவரணார்சநம்‌

அநேந துரியாவரணார்சநேந ஸித்தலக்ஷ்மி ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதி ப்ரீயதாம்‌

பஞ்சமாவரணம்‌ - சதுரஸ்ரஸ்ய ரேகயா ப்ராகாத்யாதிதிக்ஷு க்ரமேணயஜேத்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ லாம்‌ இந்த்ராய வஜ்ரஹஸ்தாய ஸுராதிபதயே ஐராவதவாஹநாய ஸபரிவாராய நம: இந்த்ர ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ராம்‌ அக்நயே ஶக்திஹஸ்தாய தேஜோதிபதயே அஜவாஹநாய ஸபரிவாராய நம: அக்நி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ டாம்‌ யமாய தந்டஹஸ்தாய ப்ரேதாதிபதயே மஹிஷவாஹநாய ஸபரிவாராய நம: யம ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்ஷாம்‌ நிருருதயே கட்கஹஸ்தாய ரக்ஷோதிபதயே நரவாஹநாய ஸபரிவாராய நம: நிருருதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ வாம்‌ வருணாய பாஶஹஸ்தாய ஜலாதிபதயே மகரவாஹநாய ஸபரிவாராய நம: வருண ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ யாம்‌ வாயவே த்வஜஹஸ்தாய ப்ராணாதிபதயே ருருவாஹநாய ஸபரிவாராய நம: வாயு ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஸாம்‌ ஸோமாய ஶங்கஹஸ்தாய நக்ஷத்ரதிபதயே அஸ்வவாஹநாய ஸபரிவாராய நம: ஸோம ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:
ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ ஹாம்‌ ஈஶாநாய த்ரிஶூலஹஸ்தாய வித்யாதிபதயே வ்ருஷபவாஹநாய ஸபரிவாராய நம: ஈஶாந ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம:

ஏதா: பஞ்சமாவரணதேவதா: ஸாங்கா: ஸாயுதா: ஸஶக்திகா: ஸபரிவாரா: ஸர்வோபசாரை: ஸம்பூஜிதா: ஸந்தர்பிதா: ஸந்துஷ்டா: ஸந்து நம: புஷ்பாஞ்ஜலி: ।

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ க்லௌம்‌ கம்‌ கணபதயே வர வரத ஸர்வஜநம்‌ மே வஶமாநய ஸ்வாஹா ஸித்தலக்ஷ்மி ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதி ஶ்ரீ பாதுகாம்‌ பூஜயாமி தர்பயாமி நம: த்ரிவாரம்‌

ஓம்‌ ஶ்ரீம்‌ ஹ்ரீம்‌ க்லீம்‌ அபீஷ்டஸித்திம்‌ மே தேஹி ஶரணாகதவத்ஸல
பக்த்யா ஸமர்பயே துப்யம்‌ பஞ்சமாவரணார்சநம்‌

அநேந பஞ்சமாவரணார்சநேந ஸித்தலக்ஷ்மி ஸமேத ஶ்ரீ மஹாகணபதி ப்ரீயதாம்‌

Author: purna_admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *